मुख्य सामग्री पर जाएं   पाठ का आकार बढ़ाएँ सहज दृश्य पाठ का आकार घटाएँ  English   संपर्क करें   प्रतिक्रिया   साइटमैप   कैरियर           
मुख्य पृष्ठ        हमे जाने        ऊष्मायन सुविधा        वैधानिक सेवाएँ        सॅाफ्टनेट सेवाएँ        पी.एम.सी. सेवाएँ        निविदाएं

प्रबंधन संरचना

गवर्निंग काउंसिल (जीसी)

गवर्निंग काउंसिल एसटीपीआई के शीर्ष प्रबंधन समिति है, जो एसटीपीआई के समग्र कार्य को नीतिगत दिशा प्रदान करती है। इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार के माननीय केन्द्रीय मंत्री गवर्निंग काउंसिल के "अध्यक्ष" है। इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार के माननीय केन्द्रीय राज्य मंत्री गवर्निंग काउंसिल के "उपाध्यक्ष" है। भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सचिव गवर्निंग काउंसिल के "कार्यकारी उपाध्यक्ष" है। वित्त मंत्रालय, वाणिज्य मंत्रालय, गृह मंत्रालय, दूरसंचार विभाग, इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और आईटी उद्योग संघों के प्रतिनिधि गवर्निंग काउंसिल के सदस्य है।


महानिदेशक (डीजी)

महानिदेशक, एसटीपीआई गवर्निंग काउंसिल के सदस्य-सचिव हैं तथा गवर्निंग काउंसिल के संपूर्ण मार्गदर्षन के अंतर्गत एसटीपीआई के प्रबंध तथा प्रचालन के लिए उत्तरदायी हैं। संस्था के कुषल प्रचालन के लिए महानिदेशक को आवश्यक कार्यकारी वित्तीय शक्तियां तथा प्राधिकार प्रत्यायोजित किए गए हैं।


निदेशकों की कार्यकारी समिति (ई-कॉड)

निदेशकों की कार्यकारी समिति (ई-कॉड), संस्था के घोषणा पत्र के अनुसार, संस्था का अंग है और इसके द्वारा निष्पादित कार्यों में नए प्रस्तावों/योजनाओं और बजट की जॉंच, प्रणाली समीक्षा एवं उसे तर्कसंगत बनाना, प्रबंध पद्धति से संबंधित आम विषयों यथा पदोन्नति समीक्षा, कर्मचारी कल्याण, सेवा शर्तें, शक्तियों का प्रत्यायोजन, परियोजना दायित्वों के लिए कार्मिकों की विदेष प्रतिनियुक्ति, उपस्कर खरीद, अप्राप्य बकायों और पुरानी भंडार सामग्री को बट्टे खाते में डालने संबंधी प्रस्तावों की जाँच करना शामिल है। इसके अतिरिक्त, यह समिति ऐसे ऊपर दिए गए मामलों के अलावा अन्य सभी प्रस्तावों की जाँच करती है जिसमें वित्तीय दायित्व निहित होते हैं । इन कार्यों में विभिन्न अधिकारियों की वित्तीय शक्तियों का विनियमन भी शामिल है । समिति, गवर्निंग काउंसिल द्वारा सौंपे गए अन्य मामलों पर विचार-विमर्ष करती है और परामर्ष देती है । समिति उन कार्यों को छोड़कर जिनके निष्पादन की शक्ति समिति में निहित है, गवर्निंग काउंसिल को परामर्ष देगी ।

ई-कॉड उप वित्त समिति का गठन करेगी, जो वित्त और लेखाओं की प्रबंध प्रणाली पर परामर्र्ष देने के अतिरिक्त व्यय हेतु वित्तीय प्रस्तावों के साथ-साथ संसाधनों को जुटाने और संस्तुति करने का कार्य करेगी । गवर्निंग काउंसिल के समक्ष प्रस्तुत करने से पूर्व ई-कॉड इन पर विचार करेगी । इस उपसमिति के कार्य क्षेत्र में बजट, वित्तीय शक्तियों का प्रत्यायोजन, एसटीपीआई द्वारा अन्य संगठनों (सार्वजनिक और निजी क्षेत्र की कंपनियों) को दी गई सेवाओं की लागत का मूल्यांकन करना, सांविधिक लेखा परीक्षकों के प्रतिवेदनों पर विचार करना भी शामिल है ।


स्थायी कार्यकारी बोर्ड (एसईबी)

एसटीपीआई केन्द्र पर स्थानीय प्रबंधन समिति है जो 'स्थायी कार्यकारी बोर्ड' (एसईबी) के रूप में जानी जाती है है, जिसे स्थानीय स्तर पर कार्य का प्रबंधन करने के लिए स्थापित किया गया है। वे गवर्निंग काउंसिल के प्रत्यायोजित शक्तियों के तहत काम करते है।


वरिष्ठ निदेशक (एसडी)

वरिष्ठ निदेशक एस.टी.पी.आई., मुख्यालय के प्रमुख हैं। एसडी एसटीपी/ईएचटीपी योजना के प्रशासन के लिए एक क्षेत्राधिकार निदेशक के रूप में कार्य करते है।


निदेशक

निदेशक तकनीकी और प्रशासनिक प्रमुख होता है और एसटीपीआई केन्द्र निदेशक के नेतृत्व में रहता है। निदेशक उसे प्रत्यायोजित शक्तियों के माध्यम से केंद्र के दिन की गतिविधि के प्रबंधन और उसके सहज कार्य के लिए जिम्मेदार होता है। एसटीपीआई-गांधीनगर सॉफ्टवेयर और इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर निर्यात इकाइयों के लिए अपने अधिकार क्षेत्र गुजरात, दमन, दीव, दादरा और नगर हवेली मे निम्नलिखित सेवाए प्रदान करता है

• उच्च गति डेटा संचार सेवा
• नियामक /सांविधिक सेवाएं एसटीपी/ईएचटीपी योजना से संबंधित और
• अन्य बुनियादी सुविधा का समर्थन /सेवाएँ

© 2015 एस.टी.पी.आई.-गांधीनगर। सभी अधिकार सुरक्षित।     गोपनीयता नीति | अस्वीकृति | उपयोग की शर्तें | सहायता
पृष्ठ अंतिम बार सितंबर 04, 2017 को अपडेट किया गया।
वेबसाइट एसटीपीआई-गांधीनगर के स्वामित्व में संचालित है।